iPhone 14 Pro, iPhone 14 Pro Max फर्स्‍ट इम्‍प्रेशन : बड़े बदलाव, लेकिन बड़ी कीमत में!

Apple का ब्रैंड न्यू iPhone 14 Pro और iPhone 14 Pro Max लॉन्च हो गया है और गैजेट्स 360 Cupertino में Apple Park पर नजर जमाए है ताकि आपके लिए इन डिवाइसेज का फर्स्ट लुक लेकर आ सके। iPhone 14 Pro और iPhone 14 Pro Max के लॉन्च होने के बाद अब सभी अफवाहों और अटकलों पर विराम लग गया है। यह रोचक भी है क्योंकि जो डिवाइसेज मेरे पास हैं, वे वह नहीं हैं जो मैं उम्मीद कर रहा था- या शायद यह एक बड़े धक्के जैसा है। नए डाइनेमिक आईलैंड फ्रंट कैमरा डिजाइन के अलावा भी बात करने के लिए काफी कुछ मिला है। अगर आप हमेशा लेटेस्ट और सबसे बड़ा आईफोन रखना पसंद करते हैं या किसी अपग्रेड का इंतजार कर रहे थे, तो आगे पढ़ते रहें। 
 

iPhone 14 Pro, iPhone 14 Pro Max के इंडिया में प्राइस

अमेरिकी डॉलर की मजबूती का परिणाम है कि Apple के नए Pro फोन इनके पहले वाले मॉडल्स से भारत में कहीं ज्यादा महंगे हैं। जबकि अमेरिका में इनकी कीमत में बहुत अधिक फर्क नहीं पड़ा है। iPhone 14 Pro की कीमत 128GB वेरिएंट के लिए 1 लाख 29 हजार 900 रुपये से शुरू होती है। 256GB वेरिएंट वाला iPhone 14 Pro 1 लाख 39 हजार 900 रुपये में आता है। 512GB वाला वेरिएंट 1 लाख 59 हजार 900 रुपये में और 1TB वाला वेरिएंट 1 लाख 79 हजार 900 रुपये में आता है। इससे बड़े मॉडल iPhone 14 Pro Max की ओर चलें तो इसकी कीमत हर लेवल पर 10 हजार रुपये ज्यादा है। इस तरह iPhone 14 Pro Max के 128GB, 256GB, 512 GB और 1TB वेरिएंट की कीमत क्रमश: 1,39,900 रुपये, 1,49,900 रुपये, 1,69,900 रुपये और 1,89,900 रुपये है। यह अभी भी साफ नहीं है कि iPhone और iPhone Pro की कीमतों के बीच में भारत में ये अंतर दूसरे मार्केट्स के मुकाबले इतना ज्यादा क्यों है। ऐपल को अपने प्रोडक्ट्स के लिए समान मल्टीप्लायर का इस्तेमाल करना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं है। 

iPhone 13 Pro और iPhone 13 Pro Max अधिकारिक रूप से बंद कर दिए गए हैं, लेकिन कुछ समय के लिए इन्हें थर्ड पार्टी रिटेलर्स द्वारा डिस्काउंटेड प्राइस पर उपलब्ध करवाया जाना चाहिए। 

iphone

 

iPhone 14 Pro, iPhone 14 Pro Max “Dynamic Island”

तो, ऐपल आईफोन 14 सीरीज के बारे में अभी तक जो अफवाहें थीं वो सही साबित हुई हैं। लेकिन जो भी कुछ सामने आया था, वह पूरी कहानी का केवल छोटा सा ही हिस्सा था। यहां पर यह बात याद दिलाती है कि हमें केवल लीक्स के आधार पर ही किसी चीज पर सवार नहीं हो जाना चाहिए। साथ ही, यहां यह भी देखने को मिलता है कि टेक्नोलॉजी कैसे हमें आश्चर्यचकित कर सकती है। मुझे लगता है कि ऐपल को यह जानकर रोमांच आया होगा कि कैसे वह लोगों को सरप्राइज कर सकती है। और जैसा कि एक प्रवक्ता ने कहा था, यह ऐपल का खास डेडीकेशन है कि वह ऐसा हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर डिजाइन करे जिससे कि चीजें इस तरीके से संभव हो सकें। 

पिछले कुछ महीनों में आए कई लीक्स और रेंडर्स में ये साफ हो गया था कि ऐपल अब एक पिल और होल कैमरा कटआउट डिजाइन पर स्चिव करने जा रही है। यह काफी अटपटा लग रहा था, लेकिन यह कल्पना करना भी मुश्किल नहीं था कि ऐपल बस कुछ अलग करना चाह रही है। यह वही कंपनी है जिसने हमें नॉच का आइडिया दिया, टच बार को लाने की असफल कोशिश की, और एक बार खुद को इस बात के लिए भी तैयार कर लिया कि एक बटन रहित और स्क्रीन रहित आईपॉड लाना एक अच्छा आइडिया है। 

फोन के सामने आने से पहले लेटेस्ट लीक काफी हद तक सही दिशा में जा रहे थे। फ्रंट में टॉप पर जो कटआउट दिया गया है इसमें पिल और होल के बीच में खाली जगह है। लेकिन यह यूजर्स को दिखाई नहीं देती है क्योंकि इस होल को सॉफ्टवेयर की मदद से एक्सपेंड किया गया है, ताकि आपको एक काले रंग का पैच दिखता रहे। इसे यूजर इंटरफेस के साथ जोड़ा गया है जिससे इसमें नोटिफिकेशन और स्टेटस इंडिकेटर मिलते हैं, साथ ही यह इंटरेक्टिव भी है। ऐपल ने इसमें कई तरह के एनिमेशन और ट्रांजिशन पर काम किया है जिससे कि यह अजीब सा दिखने वाला पैच बहुत काम का बन जाता है।  

मुझे खुशी हुई कि फुल स्क्रीन वीडियो इन दो छेदों के आसपास प्ले नहीं होगा। मुझे तो यहां पर एक होल से भी परेशाानी होती। मैं ये देखने के लिए एक्साइटेड हूं कि कैसे ऐपल अपने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कौशल की मदद से इसे एक उपयोगी UI एलिमेंट बनाती है। जरूरत पड़ने पर एक्टिव डिस्प्ले एरिया एक पॉपअप नोटिफिकेशन पॉपअप में एक्सपेंड हो जाता है, नहीं तो यह म्यूजिक प्ले होते समय, चार्जिंग होते समय या पेमेंट इंडिकेटर आदि में छोटे एल्बम आर्ट वर्क की तरह चीजों को दिखाता रहता है। ऐप्स इस एरिया को चल रही एक्टिविटी दिखाने एक लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। आप एक समय में दो एक्टिविटी इसमें देख सकते हैं- दूसरी एक्टिविटी आईलैंड के दाहिने तरफ एक छोटे गोलाकार बुलबुले में दिखाई देती है। यहां पर मैं ऐपल से सहमत हूं, जो कि लीकर्स द्वारा बताया गया असल पिल एंड होल अरेंजमेंट साबित होता है। 

iphone

कुल मिलाकर, नि:संदेह यह नॉच के ऊपर जाकर एक अच्छा इम्प्रूवमेंट है, और प्रीमियम iPhone 14 Pro और iPhone 14 Pro Max को एक फ्रेश फील देने वाली डिवाइस बनाता है। फुल स्क्रीन वीडियो देखते समय यह ध्यान को भटकाता है लेकिन अब हमें इसी के साथ आदत डालनी होगी। कम शब्दों में कहूं तो लगता है कि कैमरा डिस्प्ले एरिया में बाधा डालता है। टच के लिए आईलैंड का कोई भी हिस्सा डेड जोन नहीं है, मतलब कि आइलैंड स्वाइप करने में बाधा नहीं बनता है और टच अपना काम करता है, भले ही आपकी उंगली आइलैंड में कहीं भी चल रही हो। 
 

iPhone 14 Pro, iPhone 14 Pro Max का डिजाइन

इस साल ऐपल ने सिग्नेच कलर के रूप में गहरे पर्पल कलर का इस्तेमाल किया है जो काफी गहरा है। कलर काफी डार्क और डी-सैचुरेट किया गया है जिससे यह हल्की छटा के साथ ग्रे दिखता है। दूसरे ऑप्शंस में स्पेस ब्लैक, सिल्वर और गोल्ड कलर्स मिलते हैं। दोनों ही स्मार्टफोन्स के फ्रेम पॉलिश किए गए स्टेनलेस स्टील के बने हैं। iPhone 14 Pro का वजन 206 ग्राम है, जबकि iPhone 14 Pro Max कहीं ज्यादा भारी, 240 ग्राम वजन के साथ आता है। 

फोन की शेप और अनुपात को देखें तो iPhone 12 Pro सीरीज के बाद से ज्यादा कुछ नहीं बदला है। फोन में फ्लैट बैक है और चारों ओर फ्रेम है- MagSafe एक्सेसरी ईकोसिस्टम ऐपल को यहां पर थोड़ा विवश कर देता है। रियर में दिया गया कैमरा मॉड्यूल थोड़ा और बड़ा हो गया है इसलिए पिछले साल वाले फोन के बैक कवर यहां पर काम नहीं देंगे। अगर आप अमेरिका में हैं तो आप पाएंगे कि फोन में सिम ट्रे नदारद है- यह ऐपल का एक लक्ष्य है जिस पर वह काम कर रही है, लेकिन इसके अपने कुछ नुकसान हैं, और भारत को अभी इससे दूर ही रखा गया है। 

iPhone

बॉटम में एक लाइटनिंग पोर्ट दिया गया है। अफवाहें कहती हैं कि अगले साल से ऐपल यूएसबी टाइप-सी पर चली जाएगी। बहुत से देशों में यह कानूनी तौर पर जरूरी हो जाएगा, लेकिन वैसे भी इसका होना बहुत मायने रखता है। 
 

iPhone 14 Pro, iPhone 14 Pro Max डिस्‍प्‍ले और स्‍पेसिफ‍िकेशंस 

Dynamic Island एक्सक्लूसिव तौर पर Pro हैंडसेट्स के लिए दिया गया है क्योंकि इसमें जो डिस्प्ले टेक्‍नोलॉजी है उसके लिए कंपनी कीमतों में फायदा उठा सकती है। Super Retina XDR डिस्प्ले अब थोड़ा और बड़ा हो गया है और बॉर्डर पतले हो गए हैं। एचडीआर के लिए ऐपल ने 1600 निट्स की पीक ब्राइटनेस का दावा किया है और ये पैनल आउटडोर में 2000 निट्स तक की ब्राइटनेस देने के लिए रेट किए गए हैं। पावर सेव करने के लिए रिफ्रेश रेट 1Hz तक नीचे जा सकता है। 

आईफोन्स में पहली बार ऑलवेज ऑन डिस्प्ले दिया गया है और यह एक बड़ा बदलाव है। यह ऐपल के अपने फैशन में दिया गया है और इसके लिए विशेष विजुअल स्टाइल अपनाया गया है। एंड्रॉयड फोन की तरह इसमें ब्लैक बैकग्राउंड पर साधारण ग्राफिक्स या प्लेन टेक्स्ट दिखने की बजाए, यह केवल आपके आईफोन की लॉकस्क्रीन के रूप में दिया गया है, लेकिन बहुत डिम रूप में। मशीन लर्निंग की मदद से वॉलपेपर इमेज के हिसाब से ब्राइटनेस कम हो जाती है लेकिन डिटेल्स बनी रहती हैं। लॉकस्क्रीन के विजेट्स भी लगातार दिखते रहते हैं। 

iphone

Apple ने iPhone 14 Pro Max के साथ 29 घंटे और iPhone 14 Pro के साथ 23 घंटे की बैटरी लाइफ का दावा किया है। इम्‍प्रूवमेंट के साथ नया A16 Bionic SoC दिया गया है। इसमें 16 बिलियन ट्रांजिस्टर हैं और यह 4nm मेन्युफैक्चरिंग प्रोसेस का इस्तेमाल करके बना है। कंपनी 6 सीपीयू कोर, 5 जीपीयू कोर, 16 न्यूरल इंजन कोर और कई सारे दूसरे सबसिस्टम के साथ इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा पावर और एफिशिएंसी का दावा करती है। 
 

iPhone 14 Pro, iPhone 14 Pro Max के कैमरा

कैमरा डिपार्टमेंट में भी सुधार किए गए हैं। प्राइमरी कैमरा 48 मेगापिक्सल का है और पहली बार क्वाड पिक्सल बाइनिंग का इस्तेमाल किया गया है। ऐपल ने दावा किया है कि नए आईफोन में iPhone 13 Pro के मुकाबले सेंसर 65 प्रतिशत ज्यादा बड़ा है। अधिकतर मामलों में कैमरा को लाइट कैप्चर करने के लिए ऑप्टिमाइज किया गया है, जिसमें चार पिक्सल मिलकर एक बन जाते हैं जिससे 12 मेगापिक्सल की फोटो क्लिक होती है। लो-लाइट क्वालिटी भी 2 गुना ज्यादा बेहतर होने की बात कही गई है। सब्जेक्ट ब्लर मोशन बैकग्राउंड में भी शार्प फोकस में रहेगा, ऐसा कहा गया है। दूसरी ओर, आप पिक्सल को एकल तौर पर भी ऑप्टिमाइज कर सकते हैं जिससे शूटिंग और एडिटिंग के लिए ज्यादा क्रिएटिव ऑप्शन मिल जाते हैं। कंपनी ने नया 2X जूम ऑप्शन भी दिया है जो 48 मेगापिक्सल की इमेज को क्रॉप करके 12 मेगापिक्सल वाली हाई डिटेल इमेज में बदल सकता है। फोन से 48 मेगापिक्सल के ProRAW फोटो भी लिए जा सकते हैं। वीडियो फीचर में Action Mode एक नया ऑप्शन दिया गया है जो वीडियो को क्रॉप करके उसे ऐसी स्टेबिलिटी देता है जैसा कि गिम्बल से शूट किया गया हो। 

फोन में 12 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड कैमरा दिया गया है जिसमें मैक्रो फोटो के लिए ज्यादा फोकस पिक्सल हैं और लो-लाइट शॉट्स भी बेहतर तरीके से कैप्चर किए जा सकते हैं। फ्रंट कैमरा में पहली बार ऑटोफोकस दिया गया है और बेहतर लो लाइट शॉट्स के लिए f/1.9 अपर्चर का इस्तेमाल किया गया है। पीछे की ओर दिया गया 9 LED वाला फ्लैश एडेप्टिव है जिसमें इंटेलिजेंट पैटर्न और इंटेंसिटी एडजस्टमेंट फीचर भी है। रिव्यू करते समय हम देखेंगे कि ये सब कैसे काम करते हैं। 

दूसरे नए फीचर्स में क्रैश डिटेक्शन और सैटेलाइट आधारित इमरजेंसी मैसेजिंग (फिलहाल के लिए केवल अमेरिका और कनाड़ा में) दी गई है। iPhone 14 Pro और iPhone 14 Pro Max में iOS 16 दिया गया है जिसमें कुछ नई क्षमताएं हैं। 

नए प्रो फोन लोगों को अपग्रेड करने के लिए प्रेरित करने हेतु काफी फ्रेश लग रहे हैं। अबकी बार इनमें और इनके नॉन प्रो वर्जन हैंडसेट्स के बीच का अंतर अब तक का सबसे ज्यादा अंतर है। हालांकि, इनकी बड़ी कीमतें इनको बहुत से खरीदारों की पहुंच से दूर ही रखेंगी। आपको इस अपग्रेड के लिए जाना है या नहीं, ये तय करने के लिए Gadgets 360 के फुल रिव्यू को जरूर देखें, जो बहुत जल्द आने वाला है। 
 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *